You are currently viewing स्टार्टअप्स फेल होने के 8 कारण | Why Startups Fail In India

स्टार्टअप्स फेल होने के 8 कारण | Why Startups Fail In India

स्टार्टअप विफल क्यों होते हैं (Why Startups Fail In India। जैसा कि हम जानते हैं कि हर कोई अपने व्यवसाय को बढ़ाना चाहता है, लेकिन कुछ खराब रणनीति के कारण वे सफल नहीं हो पाते हैं। 1000 स्टार्टअप में से , 90 प्रतिशत स्टार्टअप विफल हो जाते है।

क्योंकि ज्यादातर टार्ट-अप सोचते हैं कि वे कुछ ही दिनों में बाजार पर कब्जा कर सकते हैं या वे कुछ ही महीनों में अपना व्यवसाय बढ़ा सकते हैं, लेकिन ऐसा नहीं है। वे नहीं जानते कि स्टार्ट-अप का प्रबंधन कैसे किया जाए और उन्हें कैसे विकसित किया जाए।

आज हम आपको स्टार्टअप्स फेल होने के 8 कारण | Why Startups Fail In India बताएंगे, अगर आप इन बताई गई चीज़ो पर ध्यान दोगे तो आप अपने स्टार्टअप को फेल होने से बचा सकते हो।

स्टार्टअप्स के विफल होने के 8 कारण (Why Startups Fail In India)

1. सिंगल फाउंडर (Single Founder)

स्टार्टअप में लोग पहली गलती ये करते है, कि उन्हें लगता है कि मैं अकेले ही सभी चीजों को कर सकता हूं। उन्हें लगता है कि मुझे किसी की जरूरत नहीं है, लेकिन हकीकत यही है। आपको अपनी कंपनी के सह-संस्थापक को ढूंढना होगा, आपका सह-संस्थापक आपके व्यवसाय को बढ़ाने में मदद करेगा।

यदि आप एक छोटे पैमाने का व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं तो आपको अपनी कंपनी के सह-संस्थापक को खोजने की आवश्यकता नहीं है, लेकिन यदि आप बड़े पैमाने पर व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं तो आपको अपना सह-संस्थापक ढूंढना चाहिए।

2. खराब स्थान (Bad Location)

दूसरी बात यह है कि ज्यादातर स्टार्टअप अपने ऑफिस के लिए खराब लोकेशन का चुनाव करते हैं। स्थान किसी भी संगठन में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, प्रत्येक बाजार का एक विशिष्ट स्थान होता है। आपको अपने मार्केट के हिसाब से लोकेशन का चुनाव करना होगा ताकि आप आसानी से ग्राहक को ढूंढ सकें और ग्राहक आपको ढूंढ सके।

3. बुरे कर्मचारियों को काम पर रखना (Hiring Bad Employees)

हम जानते हैं कि कर्मचारी कंपनी की संपत्ति है, कर्मचारी वह है जिससे एक संगठन चलता है। इसलिए आपको सही नौकरी के लिए सही व्यक्ति को काम पर रखना होगा, यदि आप खराब कर्मचारियों को काम पर रखेंगे तो आपका संगठन लंबे समय तक बाजार में नहीं टिकेगा।

हर संगठन में दो तरह के कर्मचारी रहते हैं, पहला जिनका आईक्यू लेवल अच्छा होता है और दूसरा वह होता है जो सीखने का इच्छुक होता है। आपको ऐसे कर्मचारियों को काम पर रखना चाहिए जो सीखने के इच्छुक हों।

4. बहुत अधिक पैसा खर्च करना (Spending Too Much Money)

यह सच है कि वित्त के बिना व्यवसाय नहीं चल सकता, लेकिन हमें खर्च के अनुसार वित्त का प्रबंधन करना होगा। ज्यादातर स्टार्टअप अपने बिजनेस पर इतना ज्यादा खर्च कर देते हैं और उसके बाद उन्हें अपने खर्च के हिसाब से रिटर्न नहीं मिलेगा। इसलिए खर्च के हिसाब से खर्च करना होगा।

5. मुनाफे के लिए ग्राहकों की बलि देना (Sacrificing Customers For Profits)

हम जानते हैं कि ग्राहक मार्केटिंग का बादशाह है और हर व्यवसाय ग्राहक के लिए चलाया जाता है। अगर आपका ग्राहक आपकी कंपनी से खुश नहीं होगा तो यह आपके लिए बहुत बड़ा नुकसान है। अधिकांश स्टार्ट-अप अपने ग्राहकों को किसी ऐसे प्रोफ़ाइल के लिए त्याग देते हैं जो अच्छा नहीं है।

6. बुरा प्रबंधन (Poor Management)

प्रबंधन एक व्यवसाय को सफलतापूर्वक चलाने की कला है, यदि आपका प्रबंधन ठीक से काम नहीं करता है तो यह आपकी कंपनी के लिए एक बड़ा नुकसान है। प्रबंधन दूसरों के माध्यम से काम पाने की कला है, आपको अपनी प्रबंधन टीम को ठीक से प्रबंधित करना होगा।

7. प्रतियोगिता विश्लेषण (Competition Analysis)

प्रतियोगी किसी भी व्यवसाय के लिए प्लस पॉइंट होता है क्योंकि आधा काम हमारे प्रतिस्पर्धियों के माध्यम से किया जाएगा। हमें अपने प्रतिस्पर्धियों की पहचान करनी होगी और फिर विश्लेषण करना होगा कि वे किस रणनीति का उपयोग कर रहे हैं। यह हमारे लिए बहुत मददगार प्रक्रिया है।

8. दूरदर्शिता और मिशन (Vision And Mission)

विजन और मिशन किसी भी व्यवसाय का भविष्य हैं, यदि आपके पास स्पष्ट दृष्टि और मिशन स्टेटमेंट नहीं है तो आप एक अच्छी टीम नहीं बना सकते। दृष्टि आपके व्यवसाय के भविष्य के मूल्य को परिभाषित करती है, और मिशन परिभाषित करता है कि आपका संगठन क्यों रहता है।

अन्य पढ़े

जाने बिज़नेस बढ़ाने के 15 तरीके

बिना कानून तोड़े कंपनी चलाने के 25 तरीके

जानिए बिज़नेस को बढ़ाने के कुछ अनोखे उपाय

Leave a Reply